Why Smart People Have Less Friends in Hindi

532

Greek Fabulist And Storyteller Aesop ने बहुत खूब कहा की – “A Man is Known By The Company He Keeps” यानि एक पर्सन की पहचान या उसकी रेपुटेशन इस बात से पता लगती है कि वो कैसे लोगों के साथ ज्यादातर वक्त बिताता है और उसके दोस्त कैसे हैं. History से लेकर आज तक Nikola tesla, albert Einstein, Abraham Lincoln, ijek newton, Charles Darwin जैसे कई स्मार्ट और महान जीनियस इसकी लाइफ को स्टडी करने के बाद ये जानने को मिलता है कि अधिकतर मैडली स्मार्ट लोग सोशल लाइफ़ यानी के लोगों के साथ वक्त बिताने से ज्यादा खुद के साथ वक्त बिताना पसंद करते थे।

Smart People

1. Introduction:

Smart People काफी लोगों को जानते हैं वो भी काफी लोगों से रोज मर्रा की जिन्दगी में मिला करते हैं लेकिन फिर भी Smart People अपना फ्रैंड बस कुछ ही लोगों को मानते हैं। यानि के स्मार्ट लोग quantity of friends को नहीं बल्कि quality of friendship को पसंद करते हैं क्योंकि mediocre के लोगों के दोस्त भी mediocre होते हैं। अच्छे लोगों के दोस्त अच्छे, बुरे लोगों के दोस्त बुरे होते हैं क्योंकि उनके mentality भी उन्हीं से मिलती है और honest खास लोगों के दोस्त sincere. इसीलिए Chaplain Ronnie Melancon का कहना था-

“Show Me Your Friend and I’ll Show You Your Future”

आप मुझे अपने दोस्त दिखाओ मैं आपके दोस्तों को देखकर बता दूंगा कि आपका फ्यूचर कैसा होगा. नॉर्मल लोगों की तुलना में मेंटली स्मार्ट लोगों के फ्रेंड्स बहुत ही गिनेचुने होते हैं। क्या कभी कबार तो एक भी नहीं। रिवॉल्यूशनरी साइकोलॉजिस्ट Satoshi Kanazawa और Norman Lee ने अपनी रिसर्च में पाया कि जिन लोगों का आईक्यू नॉर्मल या उससे कम था वो लोग तब ज्यादा खुश

थे जब वो बाकी लोगों और अपने फ्रेंड्स के साथ थे। वहीं इसका बिल्कुल अपोजिट जो लोग ज्यादा स्मार्ट थे या जिनका हाई आईक्यू था वो लोग तब ज्यादा खुश थे जब वो अकेले थे और ऐसा इसलिए है क्योंकि इसके पीछे कुछ solid reasons हैं और अगर ये रीजंस आपकी पर्सनैलिटी से मैच करते हैं तो इसका मतलब आप भी एक smart person हो.

1. Smart People Are Not Easy To Understand:

Let’s face it यही सच है के most geniuses loner होते हैं और कुछ ही लोग ये समझ पाते हैं और accept कर पाते हैं। कई बार एक इंटेलीजेंट पर्सन के लिए हार्ड हो जाता है। ऐसी सोसाइटी और लोगों के बीच रहना जो उन्हें और उनकी बातों को समझ ही नहीं सकते। इसलिए आप अपनी ही एक छोटी सी दुनिया में जीना पसंद करते हो जहां आपके पास इतने dreams, vision, ideas or goals हैं जिसके सामने सोशल ऐक्टिविटीज और लोगों के साथ घूमना फिरना आप कोई distraction की तरह ही लगता है बजाय लाइफ के essentials की तरह.

आप जितना ज्यादा लोगों से कम्यूनिकेट करते हैं उतना ही ज्यादा आप drained और थकावट महसूस करते हैं। जैसे किसी ने आप से आपकी एनर्जी छीन ली हो क्योंकि आपको समझना हर किसी की बात नहीं और जो कारनेशन के ऐड में आपको लगे कि बात ठीक से convey ही नहीं हुई या सामनेवाला पर्सन समझ नहीं पाया। उसके सर के ऊपर से ही निकल गई। ऐसे कन्वर्सेशन exhausted महसूस करवाते हैं इसलिए आप खुद तक रहना ज्यादा पसंद करते हो।

2. You Can See Through People:

High intelligence होने की वजह से आप कुछ ही देर की मुलाकात में fake personality वाले और ऐसे लोगों को पहचान लें तो जो बहुत ज्यादा ट्राइ कर रहे होते हैं वो दिखाने की जो वो असल में है ही नहीं। और आप ऐसे लोगों से डिस्टेंस बनाए रखना ही पसंद करते हैं। आप ऐसे लोगों से इसलिए दूर रहना पसंद करते हैं क्योंकि आपको रियल और honest लोग पसंद है ना कि सिर्फ अपनी फ्रेंड लिस्ट बढ़ाने के लिए किसी को भी अपना friend बना लेना।

जो deep conversation की जगह shallow conversation करता हो और showoff करता हो. आपके मुताबिक ऐसे लोग social climbers होते हैं तो दोस्तों को सीडिया समझते हैं और अपने benefit के लिए फ्रेंडशिप करते हैं और ऐसे लोगों से आप अपना टाइम वेस्ट नहीं करना चाहते।

3. Others Find You Intimidating:

Smart People अक्सर चीजों को खुद तक रखना पसंद करते हैं लेकिन असल में आप एक force हो जिसको सुनना चाहिए आप सच बोलने से कतराते नहीं। इस बात को भी कन्फर्म करने से जब सामनेवाला आउट ऑफ द लाइन जाकर लाइन क्रॉस कर देता है इसी honest और fearless behavior की वजह से कुछ लोग आपको एक threat की तरह देखते हैं और पसंद नहीं करते लेकिन वहीं कुछ ऐसे भी लोग हैं जो आपको समझते हैं वो देख सकते हैं कि आप असल में कैसे पर्सनल और वो लोग आपकी इस क्वॉलिटी की रिस्पेक्ट भी करते हैं और पसंद भी।

क्योंकि ये क्वालिटी आपको बाकियों से अलग बनाती है। जहां पूरी दुनिया बस लोगों को इम्प्रेस करना चाहती है फेक बनके ताकि वो सोसाइटी और सोशल ग्रुप्स का पाट बने रह सकें। बिना किसी की नजरों में बुरा बने और लोगों की हां में हां मिला के। वहीं जो लोग आपको असल में जानते और समझते हैं वो आपकी इस क्वॉलिटी की इम्पॉर्टेंस समझते हुए आपसे बातें डिस्कस करना या किसी चीज पर सजेशन लेना पसंद करते हैं क्योंकि उन्हें पता होता है कि आप जो सही होगा वही बोलोगे ना कि वह जो वो सुनना चाहते हैं।

4. You Don’t Get Involved in Drama:

जो फालतू का unnesseaory stress और problems drama के साथ क्रिएट होती हैं वो आपको बिल्कुल भी पसंद नहीं है वो आपको इरिटेट करता है क्योंकि आपकी प्लेट में ऑलरेडी काफी सारी चीजें हैं जो आपके लिए ज्यादा इम्पॉर्टेंट आपको चीजों या ड्रामे की जरूरत नहीं है। लोग क्या सोचते हैं आपको फर्क नहीं पड़ता क्योंकि आपको despiratly की जरूरत महसूस नहीं होती कि लोग आपको accept करें इसीलिए आप फालतू के ड्रामा में इन्वॉल्व नहीं होते.

इसीलिए Smart People को drama / scene के करने वाले लोग नहीं बल्कि light minded लोग पसंद हैं। लेकिन क्योंकि इस दुनिया में light minded and visionary लोग बहुत कम हैं कंपेयर ड्रामा करने वाले लोगों के इसलिए आपके फ्रेंड्स भी कम हैं। तभी तो जहां बाकी के लोग कुछ मसालेदार और ड्रामा वाला कंटेंट देख रहे होंगे वहीं आप ये valuable article पढने में अपना टाइम इन्वेस्ट कर रहे हैं।

5. You Choose New Friends Wisely:

हमारे ब्रेन में कुछ neurons होते हैं जिन्हें mirror neurons कहा जाता है. ये न्यूरॉन्स रिस्पांसिबल होते हैं जिन लोगों के कॉन्टैक्ट में हम आते हैं उनके behaviour imprinting या कॉपी करने के लिए और ये बात बखूबी जानते हैं कि हम जैसे लोगों के साथ रहते हैं वैसे ही हम बनते हैं। इसलिए आप ऐसे लोगों के साथ ज्यादा रहना पसंद नहीं करते जिनके inteligence and deep undersanding of things आपसे कम हो। तब आप अपने फ्रेंड्स सोच समझ के और wisly choose करते हैं. Jim Rohn का भी कहना है कि आप उन पांच लोगों के एवरेज हो जिनके साथ आप सबसे ज्यादा वक्त बिताते हैं।

6. You Focus on Your Goals:

Smart People अपने dreams और vision को close minded और Nero minded लोगों के साथ शेयर करने में कंफर्टेबल फील नहीं करते। आप हर किसी के साथ अपने goals share करना पसंद नहीं करते क्योंकि आपको पता है कि आपके vision को हर कोई समझ नहीं सकता क्योंकि उनकी सोच लिमिटेड है। आप अपने गोल्स के लिए हार्डवर्क करते हों और उन्हें अचीव भी लेकिन आपके पास failures और setbacks के लिए टाइम नहीं है इसीलिए आप लोगों को अपने गोल्स और विजन ईजिली नहीं बता ते.

आपको पता चल चुका है कि ये लोग मुझे सपोर्ट नहीं करेंगे लेकिन छोटे मोटे failure या setbacks पर ये लोग सबसे पहले मजाक उड़ाएंगे या मुझे वो छोटा सा फेलियर भूले नहीं देंगे। इसीलिए साइलेंस में work करना पसंद है. मगर इस वजह से लोग समझते हैं कि आपके साथ कुछ प्रॉब्लम है लेकिन असल में आप तो बिजी हो अपने गोल के साथ और उनसे ज्यादा एक परपज फोर लाइफ जी रहे हो।

7. You Don’t Fear Missing Out:

आप वक्त टेक्नॉलजी लोगों और जमाने के साथ अपडेटेड होकर चलना तो पसंद करते हैं लेकिन sensless conversation और latest meaningless trends आपके लिए सिर्फ नॉनसेंस हैं और कुछ नहीं क्योंकि आपको mostly अपने थॉट्स और आइडियाज के बारे में सोचना ही पसंद है। आपको अपने साथ वक्त बिताना सबसे अच्छा लगता है। इसलिए आपको fear of missing out का डर नहीं है जहां लोग ट्राय करते रहते हैं कि उनसे कुछ छूटे ना आप वहीं वो चीज करना पसंद करते हो जो meaningfull हो.

8. You Are Cautious of Others:

आपको पता है किआपके true friends कौन है। इसलिए आपको और न्यू फ्रेंड्स बनाने की जरूरत महसूस नहीं होती। आप ईजिली अपनी लाइफ में हर किसी को enter नहीं होने देते जब तक वो आपके बराबर कम्पैटिबल ना हो। ये बोलने से हमारा मतलब है कि वो पर्सन आपकी तरह सोचता हो। आइडियाज को same express करता हो और उसकी भी आपकी तरह same values हों लेकिन आप फिर भी लोगों को टेस्ट करते हो ये देखने के लिए कि as a person आपकी सच में केयर करते हैं नहीं या फिर इन सबके पीछे उनका कुछ और एजंडा तो नहीं।

9. You Are An Observant:

अधिकतर आप अपने आपको चीजों को और situations को observe करते हुए ही पाते हो। चाहे सोशल मीडिया हो या रियल लाइफ आप हमेशा observe करते रहते हैं कि क्या हो रहा है at the movement. लेकिन आप उसमें खुद enter करना पसंद नहीं करते आपको लगता है कि लाइफ में और बहुत कुछ है जो इन सब चीजों से ज्यादा इम्पॉर्टेंट और purposeful है। आप अपनी लाइफ को सीरियसली लेते हो तो आप ऐसे लोगों के साथ और इनवायरमेंट में रहना पसंद करते हैं जो आपको इंस्पायर करें। आप हंबल हों लेकिन आप उन पर टाइम इन्वेस्ट करना पसंद नहीं करते जो डिजर्व नहीं करते।

10. You Are Verbally Liberated:

आपके पास हमेशा कुछ कहने के लिए होता है और आप बिना परवाह करे अपने थॉट्स और आइडियाज को अपने फ्रेंड्स के सामने रखने से बिल्कुल झिझकते नहीं। चाहे फिर वो आपके साथ एग्री करें या ना करें लेकिन आपको जो सही और सच लगता है आप honest thoughts उनके सामने रखते हो। आप लोगों से अलग सोचते हो लेकिन आप दूसरों के ओपिनियन से offend नहीं होते बल्कि दोनों पर्सपेक्टिव से चीजों को देख कर ही अपना honest opinion देते हो।